अविनाश चंद्र की खबर

जनकपुर/ 10,/05,/2021 को प्रार्थिया श्रीमति सुकवरिया बसोर पति स्व0 श्री चरका राम बसोर उम्र 50 साल साकिन जोलगी थाना जनकपुर का थाना उपस्थित आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि, कल दिनांक 0905 2021 को शाम को मेरी मझली लडकी कूु० लालता के शादी के सबंध में ग्राम बेलटिकुरी से रिश्तेदार शक्तिमान, जिया राम एवं राहुल घर पर आयें हुए थे। कि आज दिनांक 10.05 2021 के सुबह 9.00 बजे सभी रिश्तेदार ब मेरा पति मेरे दोनो पुत्र गुलाब एवं धनजीत सभी शादी विवाह तय करने के सबंध में बातचीत कर रहे थे। तभी मेरा पुत्र धनजीत बसोर अपने बड़े भाई से करीब 3-4 माह पूर्व 8000 रुपये उधार लेने के सबंध में व पैसा कब वापस करेगा, कहने पर लेनदेन की बात पर मेरा पति के द्वारा विवाद करने से मना करने पर पुत्र धनजीत बसोर अपने पिता चरका राम को बोला कि बीच में क्‍यों बोल रहे हो कहकर हाथ मुक्का लात से मारने लगा तो मेरा बडा लडका गुलाब बसोर बीच बचाव करने लगा तो पुत्र धनजीत बसोर आज तुम दोनो को जान से मारकर खत्म कर दुगां कहकर मोटा यूकेलिप्टस के डण्डा को हाथ में लेकर हत्या करने की नियत से सबसे पहले मेरे पति चरका राम के सिर पर प्राण घातक वार किया जिससे सिंर से गंभीर चोट लगकर खून निकलने लगा। उसी समय मेरे छोटे पुत्र के द्वारा अपने बडे भाई गुलाब बसोर को भी हत्या करने की नियत से लगातार डण्डा से सिर पर प्राण घातक वार किया जिससे मेरा पति चरका राम एवं पुत्र गुलाब बसोर बेहोश हो गये। तब 108 एम्बुलेंस वाहन से ईलाज हेतु सरकारी अस्पताल जनकपुर लाये। तो मेरे पति व पुत्र को डाक्टर द्वारा मृत्यु होना बताये। कि प्रार्थिया के रिपोर्ट पर थाना जनकपुर में अपराध कमांक 52,/ 2021 धारा 302 ताहि का अपराध पंजीबद्द कर विवेचना में लिया गया] विवेचना के दौरान श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला कोरिया एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय तथा पुलिस अनुविभागीय अधिकारी महोदय मनेन्द्रगढ के मार्गदशन मे तत्काल थाना जनकपुर द्वारा टीम गठीत कर ग्रामीण जन की सहयोग से आरोपी धनजीत बसोर पिता चरका बसोर उप्र 22
साल साकिन जोलगी थाना जनकपुर जिला कोरिया छ0ग0 को काफी मशक्कत से 24 घंण्टे के भीतर दोहरे हत्या के आरोपी को दिनांक 11.05.201 को गिरप्तार कर रिमांड में भेजा गया है। सम्पूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारा विवेक खलखों सउनि, चित्रबहोर यादव, सउनि एल.सी.कश्यप सउनि अजय बघेल आर0 अरबिन्द मिश्रा, ओम प्रकाश राजवाडें, नीरज पढीयार, रघुनंदन सिंह, भुनेश्वर प्रसाद, जयकुमार निकुंज ने सराहनीय एवं महत्वपूण भूमिका निभाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here