।**सैकड़ो वाहनों के कार्यवाही के बाद जारी हुआ पीट पास, बिना टेंडर ठेकेदार को लीज मिलने का आरोप।**

रफीक अंसारी/ बस्सू पटना से

पीट पास में नहीं दर्शाया जा रहा पैसा, लोगों में आक्रोश।*पटना।रेत के खेल में आम लोग परेशान पर सत्तापक्ष से लेकर कई विभाग के कर्मचारी व अधिकारी हो रहे मालामाल। पूरे साल कार्यवाही करा लोगों को नुकसान पहुंचाने के बाद बिना टेंडर जारी हुआ ठेकेदार को पीट पास और पीट पास लेने वाले से वसुला जा रहा है 13 सौ रूपये पर कागजों में नहीं अंकित होती राशि। ऐसे में रेत उठाने वाले लोग 13 सौ रूपये मजबूरी में देकर ले रहे पीट पास पर इनकी सुनने वाला कोई नहीं। न तो सत्तापक्ष के लोग इनके लिये सुन रहे और न तो सम्बन्धित विभाग इनके लिये कुछ कर रहा है। ठेकेदार को मनमानी पैसे वसुलने की छुट सी मिल गयी है, ऐसा किसके ईशारे पर हो रहा है यह न तो विपक्ष समझ पा रहा है और न तो आम लोग। मौजुदा सरकार व जनप्रतिनिधी के लिये लोगों में आक्रोश बढ़ती जा रही है। ऐसा लग रहा कि कितना जल्दी पांच साल का कार्यकाल पूर्ण हो जाये। अभी से ही आम जनता त्रस्त होती दिख रही है।जानकारी के अनुसार पटना क्षेत में पिपरा में सालों इंतजार के बाद पीट पास बिना टेंडर के ठेकेदार को देने की बात लोगों द्वारा कही जा रही है। लोगों का कहना है पूरे साल हमने रेत लेनेे के लिये संघर्ष किया है यहां तक कि वाहनों पर कार्यवाही तक करायी है। कई वाहनों पर कार्यवाही भी हुयी और सम्बन्धित विभाग को लाखों का जुर्माना भी दिया। जो भी कार्यवाही हुयी वह ठेकेदार के ईशारों पर की गई। आज भी आलम यह है कि जिस रेत खदान का पीट पास जारी हुआ है उप पर ठेकेदार का अधिकार तो है ही पर इस पूरे क्षेत्र में नदी से निकलने वालें रेत के जगहों पर अपना अधिकारी जमाये बैठा है। पीट पास में भी मनमाना तरीके से 13 सौ रूपये 3 घन मीटर दिया जा रहा है। जिस वजह से रेत का जो पीट पास भाजपा सरकार में 60 रूपये कटता था और रेत 700 रूपये में मिलता था आज वहीं पीट पास 1300 में कट रहा है और रेत कि कीमत 2500 में लोगों को मिल रहा है। जिस वजह से क्षेत्र में निर्माण महंगा हो गया और आम लोगों की परेशानियों को समझने वाला विपक्ष भी यह सोच कर बैठा हुआ है कि जो भी हो रहा है होने दो ताकि जनता को पिछले सरकार के कार्यकाल व वर्तमान सरकार के कार्यकाल के साथ पूर्व विधायकों का कार्यकाल व वर्तमान विधायकों का कार्यकाल की तुलना कर सकें। कहीं -कहीं पर विपक्ष लोगों के लिये आवाज उठाते दिखता तो है पर उनके लिये आंदोलन करता नहीं दिख रहा। न जाने विपक्ष अपने निन्द से कब जगेगा। *लवली सिंह छाबड़ा ठेकेदार* का कहना है कहीं से उठाओं रेता पैसा हमें देना होगा -* ठेकेदार खुलेआम गुंडई और दादागिरी के साथ लोगों को यह बता दिया कि रेता का ठेका भले ही पिपरा नदी का हुआ हो पर इसके आसपास के नदी से भी यदि रेता निकाला तो पीट पास हमें देना होगा। लोग इतने परेशान हो चुके है कि यदि पीट पास का पैसा ठेकेदार को नहीं मिलता तो ठेकेदार के ईशारों में खनिज विभाग, पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही कर दी जाती हैं अब ऐसे में लोग इस कदर परेशान है कि अपनी फरियाद किसके पास लेकर जाये उन्हें तो दूर-दूर तक कोई जनप्रतिनिधी दिखता ही नहीं जो उनके लिये खड़ा हो सके। स्थिति तो यह है कि जिस जनप्रतिनिधी को चुनकर लाया उनके पास तक जाने की लोगों आस खत्म होती जा रही है। लोग यह कहने लगे है ठेकेदार भी वहीं जा रहे है और हम भी वहीं फरियाद कर रहे है पर ठेकेदार को खुलकर लोगों को परेशान करने का पीट पास मिल गया पर हमारे लिये पेशी हो गयी।

blitz hindi
के साथ जुड़े हर समाचार सबसे पहले और सटीक पाने के लिए | विज्ञापन के लिए संपर्क करे
अविनाश चंद्र -8964006304 / 83195220243/रफीक अंसारी पटना कोरिया:-9770277040

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here