समझ के परे।स्थानांतरण तो होता है पर घूम फिर कर सूरजपुर में ही डेरा क्यों?प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना सूरजपुर कार्यपालन अभियंता सोहन चन्द्र को सूरजपुर जिला कुछ ज्यादा ही पसंद आ रहा है जिस वजह से पिछले चार साल से सूरजपुर जिले का प्रभार में बैठे हुये है। इस बीच कई बार उनका स्थानांतरण हुआ पर वह यहां का प्रभार नहीं छोड़ते। जबभी स्थानांतरण होता वह पूरजोर कोशिश कर उस स्थानांतरण का शिथिल कर सूरजपुर में डेरा जमाये हुये है। जिस वजह से उनके कार्यप्रणाली पर कई सवाल उठ रहे है यहां तक कि सूत्रों की माने तो यह ठेकेदार के चहेते कार्यपालन अभिंयता है। जानकारी के मुताबिक सोहन चन्द्र कार्यपालन अभियंता का प्रथम पदस्थापना दिनांक 29.07.2016 से 14.09.2019 तक परियोजना क्रियान्वयन इकाई सूरजपुर में था। इसके बाद सोहन चन्द्र, कार्यपालन अभियंता, का ट्रांसफर दिनांक 14.09.2019 को कार्यालय परियोजना मण्डल क्र. -01 अम्बिकापुर में हुआ था। वहीं सूरजपुर में रहते हुये अम्बिकापुर से अतिरिक्त प्रभार सूरजपुर का भी देख रहे थे। सोहन चन्द्र 14.09.2019 से 14.05.2020 तक अम्बिकापुर कार्यालय से सूरजपुर कार्यालय का अतिरिक्त प्रभार में थे, और 14.05.2020 से 17.06.2020 तक ओ.पी. सिंह, कार्यपालन अभियंता सूरजपुर कार्यालय में पदस्थ थे, उनके बाद 17.06.2020 से 29.01.2021 तक अम्बिकापुर में पदस्थ हैं लेकिन सूरजपुर कार्यालय का अतिरिक्त प्रभार में हैं। सोहन चन्द्र कार्यपालन अभियंता अब सूरजपुर में दिनांक 29.01.2021 को फिर से अपना पोस्टिंग करा लिये है। जिस प्रकार से इनका स्थानांतरण होता है फिर रूक जाता है यह पूरे जिले में चर्चा का विषय है। कार्यपालन अभियंता सोहन चन्द्र की पहुंच काफी ऊपर तक है जिस वजह से यह अपना स्थानांतरण रूकवा लेते है सूत्रों की मानें तो यह बैकुण्ठपुर का भी प्रभार लेने का प्रयास कर रहे है।

blitz hindiके साथ जुड़े हर समाचार सबसे पहले और सटीक पाने के लिए | विज्ञापन के लिए संपर्क करेअविनाश चंद्र -8964006304 / 83195220243/रफीक अंसारी पटना कोरिया:-9770277040

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here