अविनाश चंद्र की खबर

कोरिया/देश की अपनी तरह की पहली गोधन न्याय योजना की शुरुआत आज से छत्तीसगढ़ में हुई। लोक महापर्व हरेली के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सांकेतिक रूप से गोबर खरीद कर इसे शुरु किया। इस योजना का कोरिया में भी शुभारंभ भटगांव विधायक एवं संसदीय सचिव पारसनाथ राजवाड़े के करकमलों से संम्पन हुआ। योजना के तहत सरकार पशुपालकों से 2 रुपए किलो की दर से गोबर खरीदेगी और फिर उससे जैविक खाद तैयार किया जाएगा। योजना का उद्देश्य पशुपालन को बढ़ावा देने के साथ-साथ कृषि लागत में कमी और भूमि की उर्वरा शक्ति में बढ़ोतरी है। इस योजना से पर्यावरण में सुधार के साथ-साथ ग्रामीण अर्थव्यवस्था में भी बड़े बदलाव की उम्मीद है। गोधन न्याय योजना से बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसरों का भी सृजन होगा।पारंपरिक रूप से हरेली पर्व कृषि और पर्यावरण से जुड़ी हुई है। इसीलिए गोधन न्याय योजना की शुरुआत के लिए इसी अवसर को चुना गया। किसानों और पशुपालकों से गोठान समितियों द्वारा दो रुपए प्रति किलो की दर से गोबर की खरीदी की जाएगी, जिससे महिला स्व सहायता समूहों द्वारा वर्मी कंपोस्ट तैयार किया जाएगा। तैयार वर्मी कंपोस्ट को 8 रुपए प्रति किलो की दर से सरकार द्वारा खरीदा जाएगा। खरीदे गए गोबर से अन्य सामग्री भी तैयार की जाएंगी। इस दौरान कार्यक्रम के मुख्यातिथि पारसनाथ राजवाड़े ने सर्व प्रथम गौमाता का पूजा अर्चना कर स्टाल का निरीक्षण किया जिसके बाद गेड़ी में भी चले। कार्यक्रम के अंत मे गोबर बिक्री हेतु गोधन कार्ड का हितग्राहियों को वितरण किया।

blitz hindi
के साथ जुड़े हर समाचार सबसे पहले और सटीक पाने के लिए | विज्ञापन के लिए संपर्क करे
अविनाश चंद्र -8964006304 / 83195220243/रफीक अंसारी पटना कोरिया:-9770277040

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here