अविनाश चंद्र की खबर

कोरिया(चरमिरी)नगर पालिक निगम नेता प्रतिपक्ष संतोष सिंह ने लगाया महापौर कंचन जायसवाल पर आरोप कहा कि वर्तमान में चल रहे विद्युत शवदाह गृह के मामले में भ्रस्टाचार की जाँच के लिए लिखे गए पत्र रूपी कदम वाहवाही लेने के लिए अच्छा हो सकता है नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि महापौर महोदया से मैं जानना चाहता हूं कि विद्युत शव दाह गृह हेतु 2183000/ ( इक्कीस लाख तिरासी हज़ार रुपए ) की स्वीकृति हुई थी उस वक़्त तत्कालीन महापौर श्री डमरू रेड्डी जी का शासन काल था और उस वक़्त 1000000/(द्स लाख रुपए )दि० 21/02/2019 को प्रथम भुगतान किया गया था
इसके बाद मशीन की लकड़ी डालकर दि० 01/10/2020 डेमो (परीक्षण )होता है और उस वक़्त पर महापौर श्रीमती कंचन जायसवाल होती हैं अब इतना ही नही 506270/ ( पाँच लाख छःहज़ार दो सौ सत्तर रुपए ) का भुगतान दि० 9/11/2020 को किया जाता है इस वक़्त भी निगम महापौर श्रीमती कंचन जायसवाल जी होती हैं, 218000/ ( स्वीकृत राशि का 10 प्रतिशत ) रोका गया है और बताया गया कि एक साल पूर्ण होने पर दि० 30/09/2021 के बाद बाकी रकम का भुगतान किया जाएगा,नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अब प्रश्न यह उठता है डेमो (परीक्षण ) कंचन जायसवाल जी कार्यकाल में हुआ
लोकार्पण भी इनके कार्यकाल में ही हो रहा है दूसरे भुगतान से लेकर लोकार्पण तक जब सब कुछ महोदया के कार्यकाल में हुआ तो उसके बाद आज तक महोदया ने ध्यान क्यों नही दिया?
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि क्या ये मान लिया जाए कि महापौर द्वारा उठाया गया यह कदम सिर्फ़ वाहवाही लूटने के लिए है?यदि महोदया द्वारा सेवा भाव ही लक्ष्य होता तो डेमो के बाद मशीन चालु हो गया होता,संतोष सिंह ने कहा कि लोकार्पण के पूर्व तक उसकी सुरक्षा की जवाबदारी ठेकेदार की थी लेकिन लोकार्पण के बाद वह निगम की सम्पत्ति हो गयी तो उसकी सुरक्षा की जवाबदारी भी निगम की थी बावजूद इसके वहाँ से सामान चोरी हो जाना निगम प्रशासन की उदासीनता को दर्शाता है,सेवा के नाम पर मेवा बटोरने का कार्य जो हो रहा है उसे जनता देख भी रही है और समझ भी रही है।

blitz hindiके साथ जुड़े हर समाचार सबसे पहले और सटीक पाने के लिए | विज्ञापन के लिए संपर्क करेअविनाश चंद्र -8964006304 / 83195220243/रफीक अंसारी पटना कोरिया:-9770277040

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here