अविनाश चंद्र की खबर

कोरिया/ छत्तीसगढ़ शासन का तीसरा पत्र मिला.

रेलवे डिवीज़न बिलासपुर के पूर्व डीआरयूसीसी सदस्य अधिवक्ता विजय प्रकाश पटेल द्वारा लगभग सात माह 25 अगस्त 2020 से चिरमिरी-नागपुर हॉल्ट न्यू रेलवे लाईन विस्तारीकरण परियोजना के लिए राज्य सरकार के हिस्से का 50 प्रतिशत फंड रिलीज करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के छायाचित्र के सामने मनेन्द्रगढ़ में लगातार घन्टानाद-सत्याग्रह किया जा रहा है. जिसे एक ओर छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने अपना समर्थन देते हुए आंदोलन स्थल पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए दोनों विधायकों से मिलकर उनके साथ मुख्यमंत्री से शीघ्र मिलने की बात कही है, तो दूसरी ओर छत्तीसगढ़ शासन वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के अवर सचिव कमलेश बंसोड़ ने ९अपना मंत्रालयीन पत्र क्र.एफ 20-41/2017/11/6 रायपुर दिनांक 05/03/2021 अधिवक्ता विजय प्रकाश पटेल को प्रेषित कर उन्हें अवगत कराया है कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अंर्तगत नागपुर हॉल्ट से चिरमिरी तक रेलवे लाईन के परियोजनाओं हेतु राज्य शासन की 50 प्रतिशत राशि आबंटन का प्रस्ताव विचाराधीन है. उल्लेखनीय है कि उक्त परियोजना के लिए केंद्र सरकार और छत्तीसगढ़ राज्य सरकार के मध्य ओएमयू होकर आधे-आधे की साझेदारी तय है. साझा वित्तीय मंजूरी के धर्म का पालन करते हुए केंद्र सरकार ने अपने हिस्से का फंड उपलब्ध करा दिया है, किन्तु छत्तीसगढ़ शासन की ओर से शेष 50 प्रतिशत धनराशि रिलीज होने की सतत प्रतीक्षा की जा रही है. अधिवक्ता पटेल ने बताया कि इस दिशा में हो रहे विलंब के कारण क्षेत्रवासियों में अविश्वास और असंतोष बढ़ने के साथ लागत में वृद्धि होने की सम्भावना बनी हुई है. उन्होंने बताया कि इस तरह शासन-प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जाना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है, जिससे क्षुभित होकर मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षित करने पूर्व डीआरयूसीसी सदस्य द्वारा विगत सात महीने से किये जा रहे घन्टानाद आंदोलन का समर्थन करने काफी संख्या में छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के व्यापारियों ने भी घन्टानाद के साथ थाली बजाकर न केवल अपने समर्थन की घोषणा की, बल्कि बहुत जल्दी उनका प्रतिनिधि मंडल दोनों विधायकों से मिलकर और उन्हें साथ लेकर मुख्यमंत्री से मिलने की बात कही. इस दौरान राकेश अग्रवाल, मनीष अग्रवाल, पंकज जैन,संजीव ताम्रकार, गणेश सराफ,विनय अग्रवाल, राजेश अग्रवाल, हरिओम दुआ,शैलेष जैन,पीयूष अग्रवाल, विश्वनाथ गुप्ता, मनीष कोठारी, जसपाल कालरा,मनोहर खोडियार,कोमल साहू,सतीश इलाहाबादी, रितेश जैन,मंसूर, अंकित अग्रवाल, सुधीर पोद्दार, अंकित भोजवानी, कुश सराफ इत्यादि व्यापारीगण काफी संख्या में आंदोलन स्थल पर मौजूद रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here