किसान न्याय योजना की राशि से किसान की बाड़ी में लगा अदरक
कोरोना संकट के समय आर्थिक सहायता के लिए किसान श्री रमेश राम ने मुख्यमंत्री को दिया धन्यवाद

  अम्बिकापुर / छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना कोरोना संकट काल में खेती किसानी के लिए आर्थिक मदद के रूप में किसानों का सहारा बना है। अम्बिकापुर जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम कृष्णापुर के मुड़ेसा पंचायत निवासी श्री रमेश राम के खाते में योजना के तहत प्रथम किश्त के रूप में 20 हजार रुपए की राशि डीबीटी के माध्यम से जमा किया गया है। इस राशि के मिलने से किसान रमेश राम को अपनी बाड़ी मे अदरक की खेती करने में सहायता मिली है। उन्होंने सही समय में आर्थिक मदद मिलने पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया है।
  11 सदस्यों के संयुक्त परिवार के मुखिया श्री रमेश राम ने बताया कि उनके नाम पर करीब 4 हेक्टेयर पैतृक कृषि भूमि है। परिवार के भरण-पोषण का मुख्य जारिया खेती किसानी ही है। श्री रमेश राम ने बताया कि इस वर्ष अपने 3 एकड़ बाड़ी में अदरक की खेती की योजना बनाए थे। कोरोना संक्रमण के कारण लगाए गए लॉकडाउन के कारण अदरक की खेती के लिए खाद बीज हेतु पैसों का इंतजाम करने में दिक्कत आ रही थी। इसी बीच राजीव गांधी किसान न्याय योजना से 20 हजार रूपए की पहली किश्त मिलने से अदरक की खेती के लिए मदद मिल गया और लगभग 3 एकड़ भूमि पर अदरक की खेती कर पाया। किसान श्री रमेश ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभांरभ कर किसानों की समस्याओं का समाधान करने का बड़ा फैसला किया है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 21 मई को राजीव गांधी किसान योजना का शुभारंभ पूरे छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए किया। सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में लागू इस योजना के लिए वे सभी किसान पात्र हैं जो विगत वर्ष धान की बिक्री सहकारी समिति के माध्यम से किये हैं। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत जिले के 29 हजार 129 किसानों को 91 करोड़ 38 लाख रूपए का भुगतान 4 किश्तों की जाएगी। प्रथम किश्त के रूप में 21 मई को जिले के 29 हजार 129 किसानों को 24 करोड़ 12 लाख रूपए डीबीटी के माध्यम से किसानों के खाते में ट्रांसफर की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here