अविनाश चंद्र की खबर

कोरिया(चिरमिरी) साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड चिरमिरी परिक्षेत्र में जहां खुली खदान और बंद खदान के माध्यम से देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए कोयले का उत्खनन भारी मात्रा में किया जाता है किंतु जहां एक कोयला देश को प्रगति शील और उन्नतशील बनाता है वही कोयला की खदानों में कार्य करने वाले मजदूरों की सुरक्षा को लेकर साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड चिरमिरी के प्रबंध तंत्र पूरी फेल नजर आए हैं यदि बात करते हैं कोल इंडिया के साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड चिरमिरी क्षेत्र की तो यदि वर्ष भर भर में निकाल लिया जाए तू इस क्षेत्र के अंतर्गत कई ऐसी दुर्घटनाएं हुई हैं जिसमें कोयला कर्मचारियों की मौत हो गई है वही जब इनके दोषियों पर सजा देने की बात आती है तो महज बड़े-बड़े जांच तो होते हैं किंतु दोषियों को कोई भी सजा नहीं दिया जाता है मैं आपकी इस बात को अंजन हिल माइंस में हुई बड़ी दुर्घटना को लेकर कई जांच आयोग कई कमेटियां अनेकों स्तर से बनाए गए किंतु अंततः परिणाम सुन नहीं रहा जिसका सीधा खामियाजा कर्मचारियों और उनके परिवार को ही भोगना पड़ता है एसईसीएल चिरमिरी प्रबंधन के साथ ही में मजदूरों के हित की बात करने वाले ट्रेड यूनियन प्रबंधक के सामने नतमस्तक होते दिखाई देते हैं बात कड़वी रहती है पर सच्चाई रहती है यदि कोयला की खदानों के अंदर की बात किया जाए तो सुरक्षा तंत्र और कलरी कर्मचारियों को दिए जाने वाले सुरक्षा उपकरण ज्यादातर भ्रष्टाचार के शिकार और कमीशन खोरी की भेंट चढ़े होते हैं वर्ष भर में होने वाले सुरक्षा सप्ताह पखवाड़े प्रबंधक भी इसे महेश खानापूर्ति कर कागजात को कंप्लीट कर देते हैं वही खदानों के अंदर जब कर्मचारी जाता है तो उसकी सुरक्षा संबंधित उपकरण या तो रहते नहीं है और यदि रहते भी हैं तो वह गुणवत्ता विहीन रहते हैं जिनके कारण से कोयला की खदान में आए दिन दुर्घटनाओं से कोयला कर्मचारियों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ रहा है जांच तो महज एक खानापूर्ति रहता है जिसे कंप्लीट कर अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर लिया जाता है लेकिन कभी उस कॉलरी कर्मचारी के परिवार वालों से पूछो कि उस पर क्या बीती है यह बहुत दुख की बात रहता है कि किसी की मौत हो जाने पर दोषियों पर ना तो कोई आरोप सिद्ध हो पाता है और ना ही कोई सजा हो पाती है साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड चिरमिरी क्षेत्र में यह घटनाएं आम हो गई हैं यदि इन पर अंकुश लगाना है तो खदानों की सुरक्षा तंत्र और मजदूरों को मिलने वाले सुरक्षा उपकरणों पर गंभीरता से विचार करना होगा तब कहीं जाकर खदानों में होने वाले दुर्घटनाओं पर रोक लगाया जा सकेगा

blitz hindi
के साथ जुड़े हर समाचार सबसे पहले और सटीक पाने के लिए | विज्ञापन के लिए संपर्क करे
अविनाश चंद्र -8964006304 / 83195220243 [रवि कुमार मिश्रा ( सरगुजा ) मोब / 7067501506

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here