[सरपंच ने कहा-पंचायत में पदस्थ आंगनबाडी में ही केवल टीकाकरण के दिन ही दिखाई देती है।]

अविनाश चंद्र की खबर

केल्हारी : स्वास्थ क्षेत्र की प्राथमिकता मानव समाज के लिये समझौता का विषय नही होता है।परंतु इसके विपरीप केल्हारी के ग्राम पंचायत घाघरा एवं तिलोखन में पदस्थ ए एन एम अपने मुख्यालय में निवास नही करती है।न ही वहां रह अपनी दैनिक कार्य करती हैं।जिससे उक्त उप स्वास्थय केन्द्र खण्डहर में तब्दील हो चुका है।उक्त पदस्थ ए एन एम द्वारा मुख्यालय से लगभग 15किलोमीटर दूर केल्हारी में रहने से ग्रामीण जच्चा-बच्चा सहित बीमार ग्रस्त लोग शासन के स्वास्थ सुविधाओं एवं सेवाओं से वंचित रहते हैं।कई गर्भवती महिलाओं को विवश होकर 15 किलोमीटर दूर जंगल पार कर प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र केल्हारी जाना पडता है।जबकि शासन द्वारा ग्राम पंचायत में उप स्वास्थ केन्द्र भवन सहित संचालित है।और उसमें ए एन एम भी पदस्थ है।उल्लेखनीय है कि घाघरा में पदस्थ ए एन एम को ही ग्राम पंचायत तिलोखन का प्रभार प्राप्त है।तिलोखन के आश्रित ग्राम धनहर से प्राथमिक स्वास्थय केन्द्र केल्हारी की दूरी 20-22किलोमीटर है।जिस रास्ते में भयानक जंगल भी पडता है।अकस्मात प्रसव पीडा व बच्चा जन्म के समय होने वाले असहनीय पीडा से ए एन एम मुख्यालय में रहने से उक्त समस्याओं से निजात पाया जा सकता है।परंतु शासन की बेसुध कार्यशैली से एवं मनमाने ढंग से कार्यरत कर्मचारी जिनके लिये ड्यूटी करनी चाहिये को परे रख अपने सुविधानुसार बाजार का मजा लेते हैं।जो ग्रामीणों के लिये भयावह व चिन्ता का विषय है।सरपंच सहित ग्रामीणों ने कहा है कि-उक्त ए एन एम सप्ताह में एक दो दिवस ही टीकाकरण के दलिये आंगनबाडी में दिखाई दे देती है।

blitz hindi
के साथ जुड़े हर समाचार सबसे पहले और सटीक पाने के लिए | विज्ञापन के लिए संपर्क करे
अविनाश चंद्र -8964006304 / 83195220243/रफीक अंसारी पटना कोरिया:-9770277040

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here